Breaking News

व्‍यक्तिगत स्कूल में 50 पलंग का क्वारेंटाइन सेंटर

कोरोना से लड़ाई के लिए समाजसेवी आगे आए

शिवपुरी ! ब्यूरो नेटवर्क इंडिया न्यूज

खतरनाक कोरोना वायरस की चैन तोड़ने के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है। ऐसे में शासन-प्रशासन अपने स्तर पर हर संभव प्रयास कर रहा है। ऐसे में समाजसेवी भी आगे आकर अपना अहम योगदान दे रहे हैं। मानसिक दिव्यांगों के लिए संचालित अपना घर आश्रम के अध्यक्ष रमेशचंद्र अग्रवाल ने बदरवास में नगर परिषद के सहयोग से निजी स्कूल में क्वारिन्टाइन सेंटर तैयार कराया है। यहां 50 पलंग की व्यवस्था की गई है, ताकि बाहर लोगों को आसानी से रहने की सुविधा मिल सके नगर के सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल में 50 पलंग बिछाकर क्वारिन्टाइन सेंटर तैयार कराया है। बदरवास नगर में बाहर से आने वाले संदिग्ध मरीजों को क्वारिन्टाइन सेंटर में रहने की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। साथ ही जिन कोरोना मरीजों के घर में पर्याप्त जगह नहीं है, ऐसे मरीजों को भी स्कूल के दूसरे कमरों में आइसोलेट करने की व्यवस्था कराई जाएगी। कोरोना की चैन हर हाल में तोड़ना है। इसलिए लोगों को भी सोशल डिस्टेंस का पालन करने के साथ मास्क हर हाल में इस्तेमाल करना जरूरी है।

 मरीजों को भोजन मुहैया कराया जाएगा
क्वारेंटाइन सेंटर में रहने वालों को अपना घर आश्रम के अध्यक्ष रमेशचंद्र अग्रवाल अपनी तरफ से मुफ्त खाने की व्यवस्था कराएंगे। अग्रवाल ने बताया कि नगर परिषद सीएमओ सौरभ गौड़ व उनके स्टाफ के सहयोग से क्वारेंटाइन सेंटर में व्यवस्थाएं कराई जा रहीं हैं। कलेक्टर व एसपी द्वारा मंगलवार को क्वारेंटाइन सेंटर का अवलोन किया था। इधर शहर के खिन्नी नाका स्थित हॉस्टल को क्वारेंटाइन सेंटर बनाकर लोगों को रखा जा रहा है। बुधवार को रमेशचंद्र अग्रवाल की ओर से दिन में खाने के पैकेट भिजवाए गए। शाम को भी व्यवस्था कराई गई। अग्रवाल का कहना है कि यदि सौ लोग भी रहेंगे तो उनको भी भोजन की व्यवस्था अपना घर आश्रम शिवपुरी की तरफ से कराई जाएगी।

Related Articles

Back to top button
Close