Breaking News

चार दिन के अंतराल में पिता पु्त्र की कोरोना से हुई मौत

दुखद समाचार

शिवपुरी ! ब्यूरो नेटवर्क इंडिया न्यूज

14 अप्रैल को कोविड वार्ड में कोरोना से जंग हारने वाले पिछोर के दुर्गापुर गांव के शिक्षक सुरेंद्र शर्मा के बड़े बेटे मनीष शर्मा की भी रविवार को कोरोना से मौत हो गई। मनीष शनिवार को ही आइसीये में एडमिट किया गया था। उल्लेखनीय है कि 14 अप्रैल को सुरेंद्र शर्मा की मौत के बाद वार्ड बॉय द्वारा ऑक्सीजन सपोर्ट हटाने से मौत होने के आरोप स्वजनों ने लगाए थे। इस घटना के बाद से ही मनीष लगातार अपने पिता को इंसान दिलाने के लिए इंटरनेट मीडिया पर न्याय की लड़ाई लड़ रहा था। शनिवार को वह अपने परिवार के साथ पिता की अस्थियां विसर्जित करने जाने की तैयारी कर रहे थे। उसी समय मनीष को चक्कर आए और वह गिर गया। इसके बाद स्वजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। मनीष का ऑक्सीजन सैचुरेशन 70 था जिस पर उसे आइसीयू में रखा गया। इसके बाद अगले दिन रविवार को उसकी मौत हो गई। जिसने भी इस दुखद घटना के बारे में सुना वह सिहर उठा। चार दिन के अंतराल में कोरोना से पिता-पुत्र की मौत ने सभी को हिला कर रख दिया। मनीष की पत्नी भी कोरोना संक्रमित है और वह अभी अस्पताल में कोरोना से जंग लड़ रही है। मनीष नापतौल विभाग में क्लर्क था।

स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की लापरवाही

शिक्षक सुरेंद्र शर्मा की मौत 14 अप्रैल को कोरोना महामारी से हुई थी। कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार उनका अंतिम संस्कार प्रशासन द्वारा शिवपुरी में ही पीपीई किट पहनकर पूरी सुरक्षा के साथ कराया जाना था। यहां कोविड प्रोटोकॉल को तोड़ते हुए सुरेंद्र शर्मा का अंतिम संस्कार उनके गांव दुर्गापुर में किया गया। इस दौरान कई परिचित के लोग अंतिम यात्रा में शामिल भी हुए। यह एक और बड़ी लापरवाही स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की रही।

Related Articles

Back to top button
Close