Breaking News

कोरोना के 32 केस निकलने पर सख्त प्रशासन

कंटेनमेंट जोन में घर के बाहर पैम्फलेट लगाएं, लोगों को कैसे पता चलेगा कि यहां नहीं आना

शिवपुरी ! ब्यूरो नेटवर्क इंडिया न्यूज

जब आपको पता है कि इस घर में कोरोना मरीज़ है, कंटेनमेंट जोन भी बना रखा है फिर बाहर पर्चा चस्पा क्यों नहीं किया। इस पर्चा के माध्यम से ही लोग जान पाते हैं कि इस घर में कोरोना के मरीज हैं। उनके संपर्क में नहीं आना है। ऐसे में यह जानकारी लोगों को पता नहीं होगी तो फिर कोरोना संक्रमण बढ़ सकता है। यह लापरवाही आगे बर्दाश्त नहीं होगी। यह बात जब कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह सीएमएचओ डॉक्टर ए एल शर्मा से कहीं तो उन्होंने कहा कि हमारे कर्मचारी रात में ही यहां पर पर्चा चस्पा कर गए थे। लेकिन परिवार के लोगों ने उसे हटा दिया। यह गलत बात है। ऐसे में यदि परिवार के लोग ही साथ नहीं देंगे तो फिर हम कैसे लोगों को जागरूक कर सकेंगे।

दरअसल शिवपुरी में बुधवार को 32 केस कोरोना निकलने पर प्रशासन में हड़कंप मच गया। इसके बाद आनन-फानन में निर्णय लिया गया कि कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक है जिन लोगों को कोरोना हुआ है और होम आइसोलेशन में रह रहे हैं। ऐसे लोगों के संपर्क में आने से लोग बचे। इसलिए कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने सीएमएचओ डॉ. एएल शर्मा और नगरपालिका के सीएम गोविंद भार्गव को निर्देश दिए कि जिन चिन्हित जगहों को कंटेनमेंट जोन बनाया है। वहां पर्चा भी चस्पा करें। ताकि कोई उनके घर आए तो उसे पहले से पता चल जाए कि यहां कोरोना पेशेंट है। और उसे दूरी बनाकर रखनी है। इस वजह से कलेक्टर एसपी और प्रशासन का पूरा हमला शुक्रवार सुबह 11 बजे शहर के 5 स्थलों पर बनाए गए कंटेनमेंट जोन और होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से मिलने गए।जहां उनसे बातचीत के दौरान पूछा कि उनका स्वास्थ्य कैसा है। ऑक्सीजन लेवल कितना है। किसी तरह की अन्य परेशानी तो नहीं है, जवाब में वहां रह रहे लोगों ने खुद के स्वस्थ रहने के साथ बेहतर होने की बात कही। ऑक्सीजन लेवल भी 98 के आसपास बताया।

-कोरोना मरीज बोले यहां गंदगी की परेशानी उसे समेटने कोई नहीं आता कलेक्ट्रेट के पास बने कंटेनमेंट जोन में घर के अंदर से बाहर निकल कर आए लोगों ने शिकायत करते हुए कलेक्टर को बताया कि यहां पर गंदगी की समस्या है। क्योंकि घर में कोरोना पीड़ित को दोना-पत्तल में खाना दिया जाता है।उनका सामान भी हम अलग रखते हैं। ऐसे में दोना पत्तल को हटाकर जब बाहर रखते हैं तो उस स्थान पर गंदगी की समस्या होती है। यदि उसे प्रतिदिन लेने वाहन आ जाए तो यहां गंदगी नहीं होगी। इस पर कलेक्टर ने सीएमओ गोविंद भार्गव को निर्देश दिए कि वह प्रतिदिन यहां पर कंटेनमेंट जोन में कचरा गाड़ी को भेजें और उसमें एक बड़ा हुकनुमा डंडे के जरिए सामान उठाकर गाड़ी में डालें।

Related Articles

Back to top button
Close