Breaking News

अहमद पटेल के निधन पर पीएम मोदी,

सोनिया गांधी समेत कई नेताओं ने जताया दुख

ब्यूरो नेटवर्क इंडिया न्यूज

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल का आज निधन हो गया है। वह 71 साल के थे। अहमद पटेल एक महीने पहले कोरोना संक्रमित हुए थे। इसके बाद उनका गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था। उन्हें 15 नवंबर को आईसीयू में भर्ती कराया गया था। अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल ने ट्वीट कर उनकी मौत की जानकारी दी। फैजल पटेल के मुताबिक उनके पिता अहमद पटेल का आज सुबह 3 बजकर 30 मिनट पर निधन हुआ। अहमद पटेल के निधन पर पीएम मोदी, राष्ट्रपति और सोनिया गांधी समेत कई नेताओं ने दुख जताया है।

पीएम मोदी, राष्ट्रपति ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि वह अहमद पटेल के निधन से दुखी है। पीएम ने लिखा कि उन्होंने समाज की सेवा करते हुए सालों गुजारे। पीएम मोदी ने आगे कहा है कि तेज दिमाग वाले अहमद पटेल को कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने के लिए हमेशा याद रखा जाएगा। मैंने उनके बेटे फैजल से बात की है और अपनी संवेदना प्रकट की है। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि अहमद भाई की आत्मा को शांति मिले।

अहमद पटेल के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक जताते हुए कहा कि यह जानने के लिए परेशान कि दिग्गज कांग्रेस नेता अहमद पटेल अब नहीं रहे। एक चतुर सांसद, श्री पटेल ने एक रणनीतिकार और एक बड़े नेता के आकर्षण के कौशल को जोड़ा। उनकी महत्वाकांक्षा ने उन्हें पार्टी लाइनों के दौरान जीत दिलाई। उसके परिवार और दोस्तों को मेरी संवेदनाएं।

प्रियंका गांधी, दिग्विजय सिंह ने किया ट्वीट

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भी अहमद पटेल के निधन पर दुख जताया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि अहमद जी न केवल एक बुद्धिमान और अनुभवी सहकर्मी थे, जिनसे मैं लगातार सलाह और परामर्श के लिए मुखातिब था, बल्कि वे एक ऐसे दोस्त थे जो हम सभी के साथ खड़े रहे। वह दृढ़, निष्ठावान और अंत तक भरोसेमंद रहे। उनका निधन एक विशाल शून्य छोड़ देता है। उनकी आत्मा को शांति मिले।कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल के निधन पर उन्हें याद करते हुए दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया- अहमद पटेल नहीं रहे। एक अभिन्न मित्र विश्वसनीय साथी चला गया। हम दोनों 1977 से साथ रहे। वे लोकसभा में पहुंचे, मैं विधान सभा में। हम सभी कांग्रेसियों के लिए वे हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे। मृदुभाषी, व्यवहार कुशल और सदैव मुस्कुराते रहना उनकी पहचान थी।

Related Articles

Back to top button
Close