Breaking Newsराज्यलखनऊहोम

सबसे ज्यादा बेनामी संपत्ति वाले भ्रष्ट लोग भाजपा से ही जुड़े हैं: मायावती

मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपरिपक्व तरीके से नोटबंदी व जीएसटी को देश पर थोप दिया।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष के पास जो कुछ भी है वह उनके शुभचिंतकों और समाज ने दिया है और सरकार से कुछ भी छुपाया नहीं गया है। मायावती ने कहा, ‘‘जितने समय मैं उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री थी, मोदी उससे अधिक समय तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे, लेकिन उनकी विरासत भाजपा और देश पर काला धब्बा है। जब हमारी सरकार थी तब उत्तर प्रदेश दंगों और अराजकता से मुक्त था.” उन्होंने कहा कि जनहित और देशहित के मामले में बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुत फिट हैं और इनकी तुलना में मोदी बहुत ज्यादा अनफिट हैं।
मायावती ने बुधवार को कहा ”मैं चार बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रही हूं लेकिन मेरी विरासत बेहद पाक-साफ तथा विकासपूर्ण रही है। कानून व्यवस्था के मामले में आज भी लोग बसपा सरकार के कार्यकाल की तारीफ करते हुए थकते नहीं है। जबकि मोदी मुझसे ज्यादा समय तक गुजरात के मुख्यमंत्री जरूर रहे हैं लेकिन उनकी विरासत न सिर्फ उन पर बल्कि भाजपा तथा देश के इतिहास पर एक बोझ और काला धब्बा है। उन्होंने कहा ”बसपा की सरकार ने विकास के मामले में हर स्तर पर उत्तर प्रदेश का नक्शा बदल दिया। लखनऊ की खूबसूरती को जिस तरह चार चांद लगाये गए, उससे यह समझा जा सकता है कि जनहित व देशहित के मामले में बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष कितनी ज्यादा फिट हैं तथा इनकी तुलना में पीएम मोदी कितने ज्यादा अनफिट हैं। हमारी सरकार के समय उप्र दंगा मुक्त और अराजकता मुक्त रहा है जबकि गुजरात के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी का कार्यकाल अराजकता, संकीर्णता, हिंसा, तनाव, अफरातफतरी, द्वेष और घृणा से भरा रहा है।
मायावती ने कहा कि इन्होंने (प्रधानमंत्री मोदी ने) अपरिपक्व तरीके से नोटबंदी व जीएसटी को देश पर थोप दिया। जबकि इनके अपने चहेते भ्रष्ट पूंजीपति लोग जनता का बैंको में जमा धन गबन कर विदेश भाग गये। बसपा प्रमुख ने कहा कि खुद को पाक-साफ और दूसरों को गलत तथा भ्रष्ट समझना इनकी बीमारी है। हालांकि देश जानता है कि सबसे ज्यादा बेनामी संपत्ति वाले भ्रष्ट लोग भाजपा से ही जुड़े हैं। मायावती ने कहा कि भाजपा और प्रधानमंत्री वास्तव में हैं कुछ, लेकिन जनता के समक्ष कुछ और बनने की भरपूर कोशिश करते हैं तथा इनका हर हिसाब किताब छिपा हुआ रहता है।

Related Articles

Back to top button
Close